बुधवार, 3 फ़रवरी 2021

Motivational Shayari

Log dubte hain to
लोग डूबते हैं तो समंदर को दोष देते हैं, 
मंजिल न मिले तो मुकद्दर को दोष देते हैं, 
खुद तो संभल कर चल नहीं सकते, 
जब ठेस लगती है तो पत्थर को दोष देते हैं

aaj tere liye
आज तेरे लिए वक्त का इशारा है,
देखता ये जहां सारा है,
फिर भी तुझे रास्तों की तलाश है,
आज फिर तुझे मंज़िलो ने पुकारा है।

Asafalta insan ko
असफलताए इंसान को तोड़ देती है,
जीवन की राहों को नया मोड़ देती है,
जो करते हैं, जी-जान से प्रयास पूरा,
असफलताएं उनका पीछा छोड़ देती है।

Buland ho hausla to
बुलंद हो होंसला तो मुट्ठी में हर मुकाम है,
मुश्किलें और मुसीबतें तो ज़िंदगी में आम हैं,
ज़िंदा हो तो ताक़त रखो बाज़ुओ में तैरने की,
क्योंकि लहरों के साथ बहना तो लाशों का काम है।

Darr mujhe bhi laga
डर मुझे भी लगा फ़ासला देख कर,
पर मैं बढ़ता गया रास्ता देख कर,
खुद ब खुद मेरे नज़दीक आती गई,
मेरी मंज़िल मेरा हौंसला देखकर।

Kisi Din to koshish
देखते हैं ये जिंदगी हमें कब तक भटकाएगी
किसी दिन तो कोशिशें हमारी भी रंग लाएंगी,
उस रोज हम आराम से बैठेंगे अपने घर में
और कामयाबी बहार दरवाजा खटखटाएगी।

Hum apni pankhon mein
तुम यहाँ धरती पर लकीरें खींचते हो,
हम वहाँ अपने लिये नये आसमान ढूंढते हैं,
तुम बनाते जाते हो पिंजड़े पर पिंजड़ा,
हम अपने पंखों में नयी उड़ान ढूंढते हैं।

Insan ko zindagi mein
जिंदगी का हर पल लाजवाब हो न हो,
जिंदगी के हर सवाल का जवाब होना चाहिए,
फर्क नहीं पड़ता कि कितनी ही देर लगे,
इंसान जिंदगी में कामयाब होना चाहिए।

Jo jalega usi diye mai ujala hoga
जो मुस्कुरा रहा है उसे दर्द ने पाला होगा,
जो चल रहा है उसके पाँव में छाला होगा,
बिना संघर्ष के इन्सान चमक नहीं सकता,
जो जलेगा उसी दिये में तो उजाला होगा।

Jab tootne lage hausla
जब टूटने लगे हौंसला तो बस यह याद रखना,
बिना मेहनत के हासिल तख़्त-व-ताज नहीं होते,
ढूंढ लेना अंधेरे में ही मंजिल अपनी दोस्तों,
क्यूंकि जुगनू कभी रौशनी के मोहताज नहीं होते।

Karm karo to phal milta hai
कर्म करो तो फल मिलता है
        आज नहीं तो कल मिलता है
जितना अधिक गहरा हो कुंआ
         उतना मीठा जल मिलता है
जीवन के हर कठिन प्रश्न का
         जीवन से ही हल मिलता है

Aage badhna hai to
खून ठंडा न पढ़ जाये थोड़ा उबाल रखा करो
आगे बढ़ना है तो मन में थोड़े सवाल रखा करो। 

आएंगी मुश्किलें सफर -ए-ज़िन्दगी में बहुत
उनसे निकलना है तो याद बुजु़र्गों की मिसाल रखा करो।

किसी से लड़ने और बहस करने में तुम्हारा ही नुक़सान है
ख़ुद से लड़ाई रखा करो और हृदय को विशाल रखा करो।

Mohabbat ki nazar ahle wafa ki shan
मोहब्बत की नज़र, अहले वफ़ा की शान पैदा कर
बुलंदी और पस्ती में ज़रा पहचान पैदा कर
न हो माहौल से मायूस, दुनियांँ ख़ुद बना अपनी
नई आंधी, नई कश्ती ,नया तूफ़ान पैदा कर
मज़ा है मरने-जीने का इन्हीं खतरों के दामन में
दिलों में हौसले और हौसलों में जान पैदा कर

Agar bikne pe aa jao to
सफर में मुश्किलें आऐ,
तो हिम्मत और बढ़ती है।
कोई अगर रास्ता रोके,
तो जुर्रत और बढ़ती है।
अगर बिकने पे आ जाओ,
तो घट जाते हैं दाम अक्सर।
ना बिकने का इरादा हो तो,
क़ीमत और बढ़ती है।

Thokar hi insan ko chalna sikhati hai
शाम सूरज को ढ़लना सिखाती है,
शमा परवाने को जलना सिखाती है,
गिरने वाले को होती तो है तकलीफ़,पर
ठोकर ही इंसान को चलना सिखाती है।

woh pal bhi aayega
ये ज़िन्दगी हसीं है इस से प्यार करो,
अभी है रात तो सुबह का इंतज़ार करो,
वो पल भी आएगा जिसकी ख्वाहिश है आपको,
रब पर रखो भरोसा वक़्त पर ऐतबार करो।


Previous Post
Next Post

post written by:

0 Comments:

आप सभी से निवेदन है कि सही कमेंट करें, और ग़लत शब्दों का प्रयोग ना करें